गठिया वात का इलाज, कारण और लक्षण

 गठिया वात


भारत में साल दर साल जोड़ों में दर्द और सूजन की समस्या बढ़ रही है, जिसे हम गठिया वात का नाम देते हैं ।गठिया बात का पहला लक्षण दर्द होता है। इसमें हल्का सा दर्द होता है। गठिया बात की शुरुआत जोड़ों का ज्यादा इस्तेमाल करने से होती है। जैसे घर का काम बहुत तेजी से करना, भाग दौड़ भरी लाइफ, जोड़ों का ज्यादा इस्तेमाल, सीढ़ियां उतरना या चढ़ना और ज्यादा चलना इत्यादि।


गठिया की शुरुआत

 गठिया बात की शुरुआत विटामिन सी या कैल्शियम की कमी से यह प्रॉब्लम होती है। हड्डियां कमजोर हो जाती है और अंदर से खोखली हो जाती है। खोखली होने की वजह से दो हड्डियों के बीच जॉइंट में ज्यादा स्पेस आ जाता है और घर्षण होता है।

गठिया तब होता है जब हम अपने जोड़ों का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं जब हम भाग दौड़ ज्यादा करते हैं और बिल्कुल भी आराम नहीं करते हैं, तो हल्का दर्द या जलन और गर्माहट यही सब गठिया का रूप ले लेते हैं जो बाद में बहुत ही दिक्कत देता है। गठिया की शुरुआती लक्षण देखने से इसे 14 से 20 दिन में इस बीमारी को खत्म किया जा सकता है । किंतु बाद में यह गंभीर रूप ले लेती है क्योंकि आपकी हड्डियों और जोड़ों के बीच में ज्यादा स्पेस आ जाता है और उनका लचीलापन खत्म हो जाता है।



गठिया कहां हो सकता है- 

यह कंधों, कुलहो, जोड़ों में, घुटनों में, हाथ के जोड़ में हो सकता है। यह पैरों में सूजन और अकड़न का कारण भी बनता है। जहां पर हड्डियों का जुड़ाव होता है गठिया वहां ही होता है।


गठिया के इलाज के लिए अपनाए टिप्स-

1)   गठिया वात में  सुबह वॉक जरूर करें, मॉर्निंग वॉक सेहत के लिए बहुत ही जरूरी होता है । इससे शरीर का ब्लड सर्कुलेशन बना रहता है और इससे पैरों में भी दर्द नहीं होता है। तो सुबह सर पर जरूर जाएं।

2)   गठिया मरीज को हल्दी और अजवाइन का सेवन करना चाहिए। साथ में घी का जरूर इस्तेमाल करें और अदरक और लहसुन का भी इस्तेमाल करना चाहिए ।किंतु तेलिय पदार्थ से बचना चाहिए।

3)   सर्दी हो या गर्मी गर्म पानी से ही नहाना चाहिए, क्योंकि गर्म पानी आपके शरीर की अकड़न को कम करता है और आपका ब्लड सर्कुलेशन को तेज करता है, जिससे कि दर्द में आराम मिलता है और जोड़ों में सिकाई करने की भी जरूरत नहीं पड़ती है, तो इसलिए हर मौसम में गुनगुना पानी से नहाए।

4)   सुबह गिलोय की चाय पिए। 

5)    ज्यादा भाग दौड़ ना करें ,भारी वजन ना उठाएं।

6)    फलों का सेवन करें। सेब को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें ।

7)    तरल पदार्थ का सेवन करें और जहां आपको दर्द है वहां सिकाई करें । मालिश हल्के हाथों से करें ज्यादा ना करें।

8)    गठिया में सब्जियों और फल का सेवन जरूर करें । फलाहार जरूर ले और मांस मछली भी खाएं।

क्या गठिया को जड़ से खत्म किया जा सकता है

 इस बीमारी का कोई इलाज नहीं है किंतु लाइफस्टाइल और अपने खान-पान से आप स्वस्थ रह सकते हैं। और इससे निजात पा सकते हैं ।  आप अच्छे लाइफस्टाइल और खान-पान से गठिया का दर्द भी नहीं होता है और अच्छी तंदुरुस्त सेहत होने से यह बीमारी नहीं होती है और ना ही आगे बढ़ पाती है।




गठिया होने पर क्या ना खाएं।

1)  तेल का कम उपयोग ।

2) अल्कोहल का कम उपयोग।

3) नमक का कम सेवन करना ।

4) शुगर का कम सेवन करना।

5) खट्टी चीजों का सेवन न करना।

6) आलू का सेवन न करें दूध न पिए।

7) तली भुनी चीज न खाए।

उम्मीद है आपको ये जानकारी अच्छी लगी होगी।


     क्लिक करें

         👇

1)  शुगर का इलाज और ये क्यों होता है

2)  मस्सों और तिल को जड़ से खत्म करे - पोडोवार्ट s paint se


No comments: